Homeबिहारइंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र की मौत पर सदर अस्पताल के समक्ष साथी...

इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र की मौत पर सदर अस्पताल के समक्ष साथी छात्रों ने किया हंगामा

छपरा (सारण)। सारण जिले मे स्थित एलएनजेपीआईटी इंजीनियरिंग कॉलेज के एक छात्र ने बुधवार को हॉस्टल के कमरे में बंद होकर आत्महत्या कर लेने का मामला सामने आया है। वहीं साथी की मौत से इंजीनियरिंग कॉलेज के अन्य छात्रों ने काफी उग्र होकर सदर अस्पताल परिसर में जम कर हंगामा किया। छात्र मौके पर प्राचार्य और जिला प्रशासन को बुलाने की मांग कर रहे थे। देखते ही देखते उग्र छात्रों की भीड़ तोड़-फोड़ पर उतरु हो गई। उन्होंने सदर अस्पताल कैम्पस से बाहर आकर थाना चौक-दारोगा राय चौक सड़क को जाम कर सड़क पर मौजूद वाहनों को अपना निशाना बनाया।
इस दौरान प्रिंसिपल समेत अन्य कई राहगीरों की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर देने का आरोप है। इस बीच उग्र छात्र सड़क पर आगजनी कर धरना पर बैठ गए। इस दौरान छात्रों का एक गुट वाहनों के साथ तोड़-फोड़ करता रहा। इससे आसपास के इलाकों में अफरा-तफरी मची रही।
स्थानीय दुकानदारों और गुजरने वाले राहगीरों में खौफ का माहौल बना रहा। हालांकि घटना की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। मगर छात्रों का उग्र रूख देख उसने भी उन्हें रोकने या कोई कार्रवाई करने का प्रयास नहीं किया। पुलिस मूक दर्शक बनी रही और कोने में दुबक कर अपने आप को बचाती दिखी।

सिवान जिले का निवासी व इंजीनियरिंग प्रथम वर्ष का छात्र था संदीप:

बताया गया है कि आत्महत्या करने वाला छात्र सिवान जिले का संदीप कुमार था। संदीप इंजीनियरिंग के प्रथम वर्ष का छात्र था।
उसके सहपाठियों के अनुसार वह कुछ दिनों से डिप्रेशन का शिकार था। प्रथम वर्ष की आंतरिक परीक्षा का अंतिम दिन था। संदीप परीक्षा देने के बाद अपने कमरे पर लौटा और कमरे को अंदर से बंद कर लिया। जब वह काफी देर तक बाहर नहीं आया तो उसके साथियों को चिंता हुई। उन्होंने किसी तरह दरवाजा खोला तो अंदर उसे मृत पाया। कॉलेज प्रशासन प्रिंसिपल की गाड़ी से फौरन उसे सदर अस्पताल पहुंचाए। मगर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। छात्रों के अनुसार संदीप ने सम्भवतः सुसाइड नोट और वीडियो भी छोड़ा है। जिसे देखने पर आत्महत्या के कारणों का खुलासा हो सकता है।इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र की मौत पर सदर अस्पताल के समक्ष साथी छात्रों ने किया हंगामा चौथी वाणी छपरा (सारण)। सारण जिले मे स्थित एलएनजेपीआईटी इंजीनियरिंग कॉलेज के एक छात्र ने बुधवार को हॉस्टल के कमरे में बंद होकर आत्महत्या कर लेने का मामला सामने आया है। वहीं साथी की मौत से इंजीनियरिंग कॉलेज के अन्य छात्रों ने काफी उग्र होकर सदर अस्पताल परिसर में जम कर हंगामा किया। छात्र मौके पर प्राचार्य और जिला प्रशासन को बुलाने की मांग कर रहे थे। देखते ही देखते उग्र छात्रों की भीड़ तोड़-फोड़ पर उतरु हो गई। उन्होंने सदर अस्पताल कैम्पस से बाहर आकर थाना चौक-दारोगा राय चौक सड़क को जाम कर सड़क पर मौजूद वाहनों को अपना निशाना बनाया। इस दौरान प्रिंसिपल समेत अन्य कई राहगीरों की गाड़ी को भी क्षतिग्रस्त कर देने का आरोप है। इस बीच उग्र छात्र सड़क पर आगजनी कर धरना पर बैठ गए। इस दौरान छात्रों का एक गुट वाहनों के साथ तोड़-फोड़ करता रहा। इससे आसपास के इलाकों में अफरा-तफरी मची रही। स्थानीय दुकानदारों और गुजरने वाले राहगीरों में खौफ का माहौल बना रहा। हालांकि घटना की सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंची। मगर छात्रों का उग्र रूख देख उसने भी उन्हें रोकने या कोई कार्रवाई करने का प्रयास नहीं किया। पुलिस मूक दर्शक बनी रही और कोने में दुबक कर अपने आप को बचाती दिखी। सिवान जिले का निवासी व इंजीनियरिंग प्रथम वर्ष का छात्र था संदीप: बताया गया है कि आत्महत्या करने वाला छात्र सिवान जिले का संदीप कुमार था। संदीप इंजीनियरिंग के प्रथम वर्ष का छात्र था। उसके सहपाठियों के अनुसार वह कुछ दिनों से डिप्रेशन का शिकार था। प्रथम वर्ष की आंतरिक परीक्षा का अंतिम दिन था। संदीप परीक्षा देने के बाद अपने कमरे पर लौटा और कमरे को अंदर से बंद कर लिया। जब वह काफी देर तक बाहर नहीं आया तो उसके साथियों को चिंता हुई। उन्होंने किसी तरह दरवाजा खोला तो अंदर उसे मृत पाया। कॉलेज प्रशासन प्रिंसिपल की गाड़ी से फौरन उसे सदर अस्पताल पहुंचाए। मगर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। छात्रों के अनुसार संदीप ने सम्भवतः सुसाइड नोट और वीडियो भी छोड़ा है। जिसे देखने पर आत्महत्या के कारणों का खुलासा हो सकता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments